19 May 2024

A Bharat live

खबर सबसे पहले

मनरेगा से बना नाला हल्की बारिश में ही बह गया जनपद सीईओ ने घटिया निर्माण को देखते हुए दिए जांच के निर्देश टीम गठित कर जांच की जाएगी

1 min read

 

पिपलौदा तहसील की ग्राम पंचायत रियावन में मनरेगा योजना से तहत बनाई गई नाली पहली बारिश में ही बह गई। ठेकेदार द्वारा घटिया निर्माण व पंचायत की लापरवाही से शासन को लाखों रुपये का नुकसान हुआ।

 

उपयंत्री इंजीनियर दिलीप जोशी ने बताया कि मनरेगा योजना के तहत उक्त नाली 15 लाख लागत की है।जिसमें से 10 लाख का भुगतान हो चुका है यह कार्य 2 माह पूर्व बारिश से पहले होना था लेकिन किसी कारणवश नहीं हो पाया व शेष कार्य प्रगतिरत है। इंजीनियर की इन बातों से साफ है कि कही ना कही पंचायत सचिव व ठेकेदार ने शासन की मंशा पर पानी फेर दिया व सभी भ्रष्टाचार उजागर ना हो इसको लेकर अलग अलग बहाने बनाने लगे है। सचिव घनश्याम सूर्यवंशी तो इतने लापरवाह हैं वर्जन के लिए कॉल रिसीव नहीं किया जा रहा है तो ग्रामीणों का कॉल कैसे रिसीव करेंगे ना ही ग्रामीणों की समस्या सुन पाएंगे तो ऐसे में देखा जाता है कि पंचायत सचिव की लापरवाही सबसे ज्यादा है

 

जनपद पंचायत सीईओ निर्देशक शर्मा ने बताया की घटिया निर्माण की जांच हेतु खंड पंचायत अधिकारी,उपयंत्री अधिकारीव पंचायत समन्वयक अधिकारी की टीम गठित कर जांच की करवाई जा रही है 9.05510 का भुगतान हो चुका है 3 दिवस मे जांच कर व दोषी पाए जाने पर सचिव और इंजीनियर जो भी इसमें दोषी पाए जाएगा उन पर उचित कार्रवाई की जाएगी वही शासन की राशि का दुरुपयोग मैं नहीं होने दूंगा।

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े
Telegram channel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x