24 May 2024

A Bharat live

खबर सबसे पहले

मध्य प्रदेश में इस तारीख से होगी गेहूं की खरीदी सरकार ने चुनाव से पहले किया नया आदेश जारी

1 min read

मध्य प्रदेश में इस तारीख से होगी गेहूं की खरीदी सरकार ने चुनाव से पहले किया नया आदेश जारी

 

मध्य प्रदेश में इस तारीख से होगी गेहूं की खरीदी सरकार ने चुनाव से पहले किया नया आदेश जारी विपणन वर्ष 2024 – 25 के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के लिए पंजीयन का कार्य चल रहा है। गेहूं खरीदी हेतु पंजीयन 1 मार्च तक होंगे। इसके बाद सरकारी स्तर पर गेहूं की खरीदी होगी। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष गेहूं खरीदी की प्रक्रिया जल्दी शुरू होने वाली है।

गेहूं का न्यूनतम समर्थन MSP wheat purchase date मूल्य इस वर्ष 2275 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है। पिछले वर्ष यह भाव 2125 रुपए प्रति क्विंटल है।

 

यह खबर भी पड़े केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दी मंजूरी, प्याज निर्यात को लेकर किया ऐलान,अब प्याज के भाव में आएगी चमक 

मित्रो इस वर्ष बोनस भी दे सकती है क्योंकि मंडियों में अभी गेहूं के भाव तेज चल रहे हैं। ऐसी स्थिति में कम खरीदी होने का अनुमान है। मंडी में गेहूं के भाव अभी लोकवन गेहूं 2791 से 3064, गेहूं मालवराज 2312 से 2351 गेहूं पूर्णा 2400 से 2666 रुपए प्रति क्विंटल रहे।

किसान गेहूं की यह सभी वैरायटी अभी न्यूनतम MSP wheat purchase date समर्थन मूल्य से अधिक दाम पर बिक रही है। न्यूनतम समर्थन मूल्य की खरीदी कब से शुरू होगी एवं गेहूं खरीदी की पूरी गाइडलाइन क्या है, आईए जानते हैं।

परदेश में तारीख से होगी समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी

यह खबर भी पड़े Electricity bill : बिजली विभाग ने जारी किया नया नियम , 1 मार्च से होंगे अहम बदलाव
किसान भाइयों न्यूनतम समर्थन मूल्य MSP wheat purchase date पर आगामी 25 मार्च से गेहूं की सरकारी खरीदी शुरू होगी। चना खरीदी के लिए पंजीयन 20 फरवरी से 10 मार्च तक होंगे। गेहूं के पंजीयन चल रहे हैं। पंजीयन के अंतिम तिथि 1 मार्च निश्चित है। वर्तमान में पंजीयन प्रक्रिया के दौरान किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

पटवारियों द्वारा गिरदावरी नहीं करने की वजह से पंजीयन नहीं हो पा रहे। विभागीय सूत्रों ने बताया कि पोर्टल अपडेट हो रहा है। इसी वजह से पंजीयन का काम धीमा चल रहा

यह खबर भी पड़े स्वच्छ भारत अभियान में ग्राम शेरपुर में आंगनवाड़ी केंद्र के समीप दिखी गंदगी पता ही नहीं चलता गांव में गंदगी है या फिर गंदगी में गांव

सरकार द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार पूर्व प्रक्रिया में किसान को फसल बेचने के लिए SMS प्राप्त होता था। SMS से प्राप्त तिथि पर किसान उपार्जन केन्द्र पर जाकर अपनी फसल बेच सकता था। SMS प्राप्ति की प्रक्रिया में कई बार किसानों को असुविधा का सामना करना पड़ता था। सरकार ने इस व्यवस्था में बदलाव किया है। सरकार द्वारा तय परिवर्तित व्यवस्था में उपार्जन केन्द्र पर जाकर फसल बेचने के लिए SMS प्राप्ति की अनिवार्यता को समाप्त किया गया है।

परदेश में उपार्जन केंद्र का चयन किसान सकेगा

MSP नवीन व्यवस्था में फसल बेचने के लिए किसान, निर्धारित पोर्टल से नज़दीक के उपार्जन केन्द्र, तिथि और टाईम हेतु फसल अनुसार स्लॉट का चयन स्वयं कर सकेंगे। उपार्जन केन्द्र, तिथि और टाईम हेतु स्लॉट का चयन नियत तिथि के पूर्व करना अनिवार्य होगा। सामान्य तौर पर उपार्जन प्रारंभ होने की तिथि से उपार्जन समाप्त होने के एक सप्ताह पूर्व तक उपार्जन केन्द्र, तिथि और टाईम हेतु स्लॉट का चयन किया जा सकेगा।

उपार्जित फसल के भुगतान की व्यवस्था
किसान द्वारा समर्थन मूल्य MSP wheat purchase date पर विक्रय उपज का भुगतान प्राथमिकता के आधार पर किसान के आधार लिंक बैंक खाते में किया जाएगा। किसान के आधार लिंक बैंक खाते में भुगतान करने में किसी कारण से समस्या उत्पन्न होने पर किसान द्वारा पंजीयन में उपलब्ध कराये गए बैंक खाते में भुगतान किया जा सकेगा।

किसान पंजीयन के समय किसान को बैंक खाता नंबर और IFSC कोड की जानकारी उपलब्ध करानी होगी। जनधन, अक्रियाशील, संयुक्त बैंक खाते एवं फिनो, एयरटेल, पेटीएम, बैंक खाते पंजीयन में मान्य नहीं होंगे

 

किसानों का बैंक खाता आधार से लिंक करवाना अनिवार्य
MSP wheat purchase date पंजीयन व्यवस्था में बेहतर सेवा प्राप्त करने के लिए यह ज़रूरी होगा कि किसान अपने आधार नंबर से बैंक खाता और मोबाईल नंबर को लिंक कराकर उसे अपडेट रखे। इस संबंध में किसानों को जागरूक करने के लिए पर्याप्त प्रचार प्रसार किया जाए।

जिलों और विभिन्न तहसीलों में स्थापित आधार पंजीयन केन्द्रों को क्रियाशील रखा जाए ताकि किसान वहां जाकर आसानी से अपना मोबाईल नंबर एवं बायोमेट्रिक अपडेट करा सके। इस कार्य के लिए पोस्ट आफिस में संचालित आधार सुविधा केन्द्र का भी उपयोग किया जा सकता है।

आधार नंबर से बैंक खाता लिंक कराने के लिए बैंकों के साथ भी समन्वय आवश्यक होगा।

पंजीयन के दौरान ही रू.1 का ट्रांजेक्शन किया जाएगा
MSP wheat purchase date सरकार ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए हैं कि प्रत्येक किसान का बैंक खाता आसानी से उसके आधार नंबर से लिंक हो जाए एवं संबंधित बैंक द्वारा बैंक खाता एवं आधार की जानकारी NPCI को आधार आधारित भुगतान हेतु प्रेषित की जाए।

इस संबंध में बैंकों के साथ बैठक कर न केवल उन्हें समुचित निर्देश दिये जाए, वरन इस कार्य की नियमित निगरानी भी की जाए। बैंक खाते को आधार नंबर से लिंक कराने में किसान को कोई दिक्कत अथवा समस्या होने पर उसका त्वरित समाधान किया जाए। किसान के आधार लिंक बैंक खाते के सत्यापन हेतु पंजीयन के दौरान ही रू. 1 का ट्रांजेक्शन MPSCSC द्वारा ई-उपार्जन / JIT पोर्टल के माध्यम से कराया जाएगा।

आधार नंबर का वेरिफिकेशन जरूरी
पंजीयन कराने और MSP wheat purchase date फसल बेचने के लिए आधार नंबर का वेरिफिकेशन कराना अनिवार्य होगा। वेरीफिकेशन आधार नंबर से लिंक मोबाईल नंबर पर प्राप्त OTP से या बायोमेट्रिक डिवाईस से किया जा सकेगा।

किसान का पंजीयन केवल उसी स्थिति में हो सकेगा जबकि किसान के भू-अभिलेख के खाते एवं खसरे में दर्ज नाम का मिलान आधार कार्ड में दर्ज नाम से होगा।

भू-अभिलेख और आधार कार्ड में दर्ज नाम में विसंगति होने पर पंजीयन का सत्यापन तहसील कार्यालय से कराया जाएगा। सत्यापन होने की स्थिति में ही उक्त पंजीयन मान्य होगा।

उपार्जन केन्द्र पर जाकर फसल MSP wheat

Msp purchase date बेचने के लिए अपने परिवार के किसी सदस्य (पिता, भाई, पति, पुत्र आदि) को नामित कर सकेंगे। नामित व्यक्ति का भी आधार वेरीफिकेशन कराया जाएगा। उपार्जन केन्द्र पर आधार के बायोमेट्रिक सत्यापन के उपरांत ही नामित व्यक्ति फसल का विक्रय करे और खबर को शेयर करें।

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े
Telegram channel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x