23 May 2024

A Bharat live

खबर सबसे पहले

कलेक्टर के दिशा निर्देश पर जनपद शिक्षा केंद्र पर दिव्यांग छात्रों का चिकित्सा मूल्यांकन शिविर का आयोजन किया गया

1 min read

पिपलोदा कलेक्टर नरेंद्र कुमार सूर्यवंशी के दिशा-निर्देश एवं जिला शिक्षा केंद्र रतलाम के सहयोग से जनपद शिक्षा केंद्र पिपलोदा के खण्ड , स्रोत समन्वयक प्रदीप सिंह आदेश के निर्देशानुसार एलिम्को जबलपुर तथा गोमाबाई नेत्रालय नीमच डॉक्टर एवं तकनीकी विशेषज्ञ द्वारा दिव्यांग छात्रों का चिकित्सीय मूल्यांकन शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें 110 दिव्यांग छात्रों का परीक्षण किया गया जिसमें 35 छात्रों को उपकरण के लिए चयनित किया गया तथा अन्य को सहायक सामग्री के लिए चिंहित किये गए।

शिविर के प्रारंभ में मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण किया गया तत्पश्चात उपस्थिति दिव्यांग एवं पालको को संबोधित करते हुए जिला शिक्षा केंद्र रतलाम के सहायक परियोजना समन्वयक मुकेश कुमार राठौड़ ने कहा कि दिव्यांगों की सेवा करना ही हमारा धर्म और सबसे बड़ी सेवा है। शासन द्वारा चलाई जा रही हितग्राही मूलक योजना एवं आवश्यक उपकरण का लाभ दिव्यांग छात्रों को मिल सके इस उद्देश्य को लेकर शिविर का आयोजन किया। डाइट पिपलोदा के व्याख्याता राजेंद्रराव भोगलेकर संगीता भट्ट बीएससी रामदयाल आंजना, उपाध्याय, दिव्यांग छात्रावास वार्डन अंबाराम बोस, एमआरसी मदन धमानिया ने भी संबोधित किया। शिविर में अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ भरत निनामा, मनोरोग विशेषज्ञ डॉ निर्मल जैन, एलिम्को जबलपुर के डॉ नेहा अग्निहोत्री, नेत्र परीक्षक योगेंद्रसिंह राठौर द्वारा दिव्यांगों का चिकित्सा मूल्यांकन किया गया।

शिविर में अकादमिक समन्वयक जन शिक्षक मोहन सिंह सोलंकी अंबाराम बोस मोहमद शाहिद खान, हरिशंकर रावल, सोमेश बार्गल, भोपालसिंह राठौर, मुकेश राठौड़, नितिन दुबे, घनश्याम बैरागी, बसंतीलाल पाटीदार, रामप्रसाद पाटीदार, आदि ने शिविर की व्यवस्थाओं में व्यवस्था बनाए रखने में सराहनीय सहयोग किया। कार्यक्रम का संचालन मोहनसिंह सोलंकी द्वारा किया गया। आभार प्रदर्शन मोबाइल स्रोत सलाहकार मदन दमानिया द्वारा व्यक्त किया।

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े
Telegram channel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x