23 May 2024

A Bharat live

खबर सबसे पहले

मुख्यमंत्री स्पॉन्सरशिप योजना: राज्य सरकार ने बच्चो को दी सौगात, स्कूल कॉलेजों के छात्र छात्राओं को मिलेंगे 4000 रू 

1 min read

मुख्यमंत्री स्पॉन्सरशिप योजना: राज्य सरकार ने बच्चो को दी सौगात, स्कूल कॉलेजों के छात्र छात्राओं को मिलेंगे 4000 रू

मुख्यमंत्री स्पॉन्सरशिप योजना: राज्य सरकार तथा केंद्र सरकार आए दिन अपने देश जनता के लिए किसी ने किसी प्रकार की सहयोग देने के लिए योजनाएं निकलती है किसानों महिलाओं गरीबों मजदूरों सभी के लिए योजनाएं निकलती है इसके अलावा सरकार ने बच्चों के लिए भी योजना निकाली है जिसका नाम मुख्यमंत्री स्पॉन्सरशिप योजना , यह योजना गरीब और निम्न वर्ग के विद्यार्थियों के लिए होने वाली है जिन्हें सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत पढ़ाई हेतु आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। यह योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई है एवं उत्तर प्रदेश के विद्यार्थी योजना का लाभ ले सकेंगे।

योजना का नाम – मुख्यमंत्री स्पॉन्सरशिप योजना

राज्य – उत्तर प्रदेश

लाभ- आर्थिक सहायता

पात्रता विद्यार्थी – आवेदन माध्यम –

आधिकारिक वेबसाइट- mahilakalyan.up.nic.in

राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई इस स्पॉन्सरशिप योजना का प्रमुख उद्देश्य पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को आर्थिक लाभ प्राप्त करना है। यह योजना एक प्रमुख रूप से जनकल्याणकारी योजना है जिसका प्रमुख उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों को पढ़ाई में आगे बढ़ाना है एवं उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करना है। वैसे तो सरकार द्वारा छात्र-छात्राओं एवं बच्चों के लिए कई सारी जनकल्याणकारी योजना चलाई जाती है लेकिन यह एक प्रमुख योजना होने वाली है। इस योजना की संपूर्ण जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको प्रदान करेंगे।

स्पॉन्सरशिप योजना लाभ

यह योजना छात्रों के लिए वरदान साबित हुई है क्योंकि जो भी आर्थिक स्थिति के कारण अपनी पढ़ाई को स्थगित नहीं कर सकते उन बच्चों को सरकार₹4000 देती है। इस योजना के तहत 18 साल से ऊपर के छात्र-छात्राओं को 4 हजार रुपए प्रति महीना दिए जाते हैं। यह योजना एक जन कल्याणकारी योजना है।

 स्पॉन्सरशिप योजना पात्रता

  • आवेदक उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए एवं छात्र-छात्रा की उम्र 18 साल होना चाहिए।
  • स्पॉन्सरशिप योजना के तहत ऐसे बच्चे पात्र होंगे जिनके पिता की मृत्यु हो गई हो, मां तलाकशुदा हो या परिवार से परित्यक्त हो।
  • ऐसे बच्चे पात्र होंगे जिनके माता-पिता में से कोई भी एक गंभीर बीमारी से ग्रसित हो।
  • ऐसे बच्चों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा जो बेघर हैं, निराश्रित है।
  • ऐसे बच्चों को योजना का लाभ दिया जाएगा जो कानून से संघर्षरत हैं।
  • स्पॉन्सरशिप योजना के तहत ऐसे बच्चे पात्र होंगे जिन्हें बाल तस्करी, बाल विवाह या बाल श्रम या बाल भिक्षावृक्ति से मुक्त कराया गया हो।
  • प्राकृतिक आपदा के शिकार बच्चों को भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ ऐसे बच्चों को दिया जाएगा जो दिव्यांग, लापता या घर से भागे हुए हैं।
  • इस योजना का लाभ ऐसे बच्चों को दिया जाएगा जिनके माता-पिता या उनमें से एक कारागार में निरुद्ध है।
  • एचआईवी या एड्स से प्रभावित बच्चों को भी योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • स्पॉन्सरशिप योजना का लाभ ऐसे बच्चों को भी दिया जाएगा जिनके माता-पिता आर्थिक, शारीरिक या मानसिक रूप से देखभाल हेतु असमर्थ हूं।
  • जिन बच्चों को आर्थिक सहायता एवं पुनर्वास की आवश्यकता होगी उनको इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ ऐसे बच्चों को दिया जाएगा जो फुटपाथ पर जीवन यापन करने वाले, प्रताड़ित, उत्पीडित या शोषित हो।

स्पॉन्सरशिप योजना का लाभ लेने के लिए अभिभावकों की आय सीमा भी निर्धारित की गई है। ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले अभिभावकों की वार्षिक का है 72,000 रुपए से ज्यादा नहीं होना चाहिए इसी तरह शहरी क्षेत्र में अधिकतम 96,000 से ज्यादा नहीं होना चाहिए। यदि बच्चे के माता-पिता की दोनों की मृत्यु हो चुकी है तो ऐसी स्थिति में परिवार की वार्षिक का या अधिकतम आय सीमा का नियम लागू नहीं होगा।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • शिक्षण संस्थान का प्रमाण पत्र
  • आवेदन प्रक्रिया

स्पॉन्सरशिप योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन की सुविधा अभी वर्तमान में चालू नहीं की गई है। इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपको जिला बाल संरक्षण इकाई / जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय में जाना होगा एवं वहां पर आवेदन पत्र जमा करना होगा।

ये भी पड़े:-

Read more: कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार द्वारा अवैध कॉलोनियों के विरुद्ध सख्त रवैया जावरा क्षेत्र में 12 अवैध कॉलोनी विकासकर्ताओं को नोटिस जारी

Read more: Ratlam police महिला के साथ हुई लूट का पुलिस ने किया खुलासा दो आरोपी गिरफ्तार अन्य की तलाश जारी

Read more: Onion price today: मध्य प्रदेश की इन प्रमुख मंडियों में प्याज के दाम 3600रू प्रति क्विंटल, किसानों के चेहरे पर छाई मायूसी 

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े
Telegram channel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x