19 May 2024

A Bharat live

खबर सबसे पहले

Chanakya Niti : जब भी पति रात में पत्नी से मांगे ये चीज, पत्नी को झट से हो जाना चाहिए तैयार, रिश्ता रहेगा मजबूत

1 min read

Chanakya Niti : जब भी पति रात में पत्नी से मांगे ये चीज, पत्नी को झट से हो जाना चाहिए तैयार, रिश्ता रहेगा मजबूत दोस्तों आज के हमारे इस आर्टिकल में आपका स्वागत हैं, दोस्तों महान अर्थशास्‍त्री और कूटनीतिज्ञ आचार्य चाणक्य अपनी नीतियों में स्त्री और पुरुष को लेकर कई नियम और बातें बताई हैं, जिसको फॉलो कर ने शादीशुदा लाइफ को खुशहाल बनाया जा सकता है। चाणक्य नीति में उन बातों का जिक्र किया गया है, जिनका पालन करने से मैरिड लाइफ खुशहाल रहती है। आचार्य चाणक्य ने बताया है कि अगर पति 3 चीजों की मांग करता है तो पत्नी को हर हाल में पूरा करना चाहिए।

यह भी पढ़ें :- Post Office की यह शानदार FD स्कीम निवेश करने पर मिलेगा लाखों रूपए का रिटर्न, जानिए पूरी जानकारी

पति को हमेशा दें सुकून

कोई भी पुरुष जब सबसे ज्यादा परेशान होता है तो वह अपनी पार्टनर से खास तरह का सपोर्ट चाहता है और चाणक्य नीति में भी इसका जिक्र किया गया है। आचार्य चाणक्य (Acharya Chanakya) के अनुसार, पत्नी का कर्तव्य है कि वह पति की सभी चीजों का ध्यान रखे और जब वह उदास हो तो उसके मन को शांत करने की कोशिश करे. पति जब भी किसी बात को लेकर परेशान हो तो पत्नी का कर्तव्य है कि वह उसे सुकून दे. ऐसा नहीं करने से रिश्ता खराब होता है।

पति को प्रेम से करे संतुष्ट

दोस्तों आचार्य चाणक्य के अनुसार, पति-पत्नी का रिश्ता तभी सफल हो पाता है, जब दोनों एक दूसरे के सुख-दुख का ख्याल रखें। चाणक्य नीति में यह बताया गया है कि पति के प्रेम की चाहत को पूरा करना पत्नी का कर्तव्य होता है और उसे हमेशा अपने प्रेम से संतुष्ट करना चाहिए. हालांकि, पति का भी कर्तव्य होता है कि वह पत्नी की चाहत को पूरा करे. ऐसा नहीं करने पर पति-पत्नी के बीच लड़ाई-झगड़े होते हैं और रिश्ता खराब होता है।

यह भी पढ़ें :- Wedding Card News : शादी के कार्ड पर दूल्हा और दुल्‍हन के नाम के आगे क्‍यों ल‍िखा होता है ‘चिं’ और ‘सौ. का’, जानिए इसका मतलब

जानिए वैवाहिक जीवन की दरारे मिटने के उपाय

खुशहाल वैवाहिक जीवन के लिए जरूरी है कि पति और पत्नी एक दूसरे के बीच कभी भी दूरी ना आने दें. चाणक्य नीति के अनुसार, पत्नी का कर्तव्य होता है कि वह कभी भी वैवाहिक जीवन में दरार ना आने दे. हालांकि, आचार्य चाणक्य ने अपनी नीतियों में इस बात का भी जिक्र किया है कि पति को भी अपनी पत्नी के प्रति ऐसा ही व्यवहार करना चाहिए।

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े
Telegram channel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x